chetanherbal.com

Pet Ke Kide Marne Ke Liye Ayurvedic Upchar

पेट के कीड़े मारने के लिए आयुर्वेदिक उपचार

कृमि, आँत्रकृमि, पेट में कीड़े होना
(Helminthiasis)

परिचय-

आँत्रों में कई प्रकार के कीड़े होते हैं। इनमें केंचुए, गोलकृमि, फीते जैसे कृमि, सूत्रकृमि मुख्य हैं। इनके होने से अरूचि, कभी कब्ज़, कभी पतले दस्त, सिरदर्द, गुदा मार्ग की खुजलि, बार-बार मुँह में पानी भर जाना, मिचली(वमन) आदि लक्षण होते हैं। यदि रोगी गोरा और छोटा बच्चा हो तो पेट पर नीली नसें साफ दिखाई देती हैं। रोगी दिन-प्रतिदिन कमजोर होता जाता है। यह अधिकतर यकृत विकारों के कारण होता है, अतः कृमिनाशक औषधि के प्रयोग के साथ-साथ यकृत पोषक औषधियों का भी प्रयोग अवश्य करें। अधिक चिकनाई एवं मीठी चीजों तथा बासी चीजों से परहेज करें।

आप यह हिंदी लेख chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

चिकित्सा-

chetanherbal.com

1. अखरोट की छाल का क्वाथ(काढ़ा) पीने से आँतों के कीड़े मर जाते हैं।

2. बच्चों के गुदा के सफेद कृमि(चुन्ने) होने पर अजमोद की धूनी देने से सफेद कृमि मर जाते हैं।

3. अजवायन का चूर्ण 4-4 ग्राम नीम की छाल के क्वाथ के साथ देने से आन्त्रकृमि नष्ट हो जाते हैं।

4. सुबह के समय बासी पानी के साथ गुड़ खिलाकर खुरासानी अजवायन के चूर्ण की फँक्की लेने से पेट के कीड़े निकल जाते हैं।

5. अतीस के चूर्ण में बायविडंग का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से कृमि मर जाते हैं।

6. अनानास के पत्तों का रस पीने से आँत्रों के कीड़े मर जाते हैं।

7. अनानास के पत्तों के सफेद भाग के ताजे रस में मिश्री मिलाकर पीने से कृमि मर जाते हैं और पाखाना खुलकर आता है।

8. आँत्रों के कृमि मारने के लिए पपीते का दूध 1.25 से 3.75 मि.ली. दें। इसका प्रभाव आँत्रों के लम्बे, गोल एवं चपटे कृमियों में लाभप्रद है।

यह भी पढ़ें- मधुमेह

9. आड़ू के रस में घी में भुनी हींग थोड़ी-सी मिलाकर पीने से कीड़े मर जाते हैं।

10. आड़ू के पत्तों का रस बच्चों को पिलाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

11. उतरण के रस की 10 से 20 बूँद या उतरण(उतरन) के पत्तों का काढ़ा पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं। इससे अन्य पेट के रोगों में भी आराम पहुंचता है।

12. कुकरोंदे के पत्तों के रस को पीने से बच्चों के पेट के कीड़े मर जाते हैं।

13. कचनार की छाल या इसकी कलियों का क्वाथ पीने से आँतों के कीड़े मर जाते हैं।

14. कटकरंज के मगज और बायविंडग के चूर्ण की फँक्की लेने से पेट के कीड़ों का नाश हो जाता है।

Pet Ke Kide Marne Ke Liye Ayurvedic Upchar

15. कड़वे परवल के बीजो की फँक्की लेने से आँतों के कीड़े मर जाते हैं।

16. सफेद कद्दू(कुम्हड़ा) के बीजों का तेल 10-15 मि.ली. पीकर कुछ देर बाद हल्का जुलाब लेने से आँतों के कीड़े बाहर निकल जाते हैं।

यह भी पढ़ें- उच्च रक्तचाप

17. कपीला 8 ग्राम शहद के साथ चाटने से पेट के तमाम कृमि मर जाते हैं।

18. गम्भारी की जड़ का क्वाथ पीने से आँतों के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

19. करेले के पत्तो का रस पीने से आँतों के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

20. कलिहारी 60 मि.ग्रा. गुड़ के साथ खाने से आँत्रों के कीड़े मर जाते हैं। घावों पर इसका चूर्ण छिड़कने से घाव के कीड़े मर जाते हैं।

21. कालादाना के जुलाब से आन्त्रकृमि निकल जाते हैं।

22. भाँट के पत्तों के रस की पिचकारी गुदामार्ग में देने से बच्चों के गुदा के कीड़े मर जाते हैं।

23. काली जीरी 6 ग्राम शहद के साथ लेने एवं कुछ देर बाद साधारण जुलाब लेकर पेट साफ कर लेने से आँत्रों के कीड़े मर जाते हैं। निर्धारित मात्रा से अधिक मत दें।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.