Pet Dard Ki Dawa

Pet Dard Ki Dawa

पेट दर्द की दवा

पेट का दर्द, उदरशूल
(Intestinal Colic)

Pet Dard Ki Dawa, pet dard ki ayurvedic dawa, stomach pain

पेट का दर्द कई कारणों से होता है। कभी आँतों में ऐंठन होने से और कभी पेट में कीड़े होने से और कभी आँतों में सूजन(शोथ) होने से भी दर्द होता है। जब ऐसा जान पड़े कि आँतों में खरोंचें जैसा दर्द हो रहा हो, तो उसे ‘पेट दर्द’ कहते हैं। यह सामान्यतः खाना खाने के कुछ देर बाद होता है।

आप यह हिंदी लेख chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

पेट दर्द का देसी घरेलू उपचार-

Pet Dard Ki Dawa

1. नमक और काली मिर्च का चूर्ण थोड़ा-थोड़ा लेकर अनारदानों पर डालकर सेवन करने से पेट के दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

2. अजवायन 25 ग्राम, हींग 10 ग्राम, सोंठ 25 ग्राम, नौशादार 25 ग्राम, सोडा बाई कार्ब 25 ग्राम, सबको पीस लें। गर्म पानी के साथ 500 मि.ग्रा. सुबह-शाम लें। पेट दर्द व जलन में आराम मिलेगा।

3. अम्लतास का गूदा पानी में पीसकर नाभि के चारों ओर लेप करने से बच्चों के पेट दर्द में लाभ होता है।

4. पान के पत्तों को कैस्टर ऑयल में डुबोने के बाद गर्म करके पेट पर बांधने से लाभ होता है। यदि वह कब्ज़ या मलावरोध के कारण हो तो यह योग लाभप्रद है।

5. मुनक्का में पीसी हुई हींग 125 मि.ग्रा. लपेट कर रोगी को शुष्म पानी के साथ निगलने को कहें।

6. हरड़, लाहौरी नमक, अजवायन तथा घी में भुनी हुई हींग मिलाकर चूर्ण बना लें। 1-1 ग्राम दो बार प्रतिदिन दें।

यह भी पढ़ें- आंखों की देखभाल

7. आक(आकवन, अकौन) की कली 25 ग्राम, अजवायन 25 ग्राम, सोंठ 10 ग्राम, काला नमक 3 ग्राम। इसमें नींबू का रस मिलाकर पीस लें। फिर गोलियां बना लें। शुष्म पानी से 1 से 2 गोली प्रतिदिन दो बार दें।

8. यदि दर्द कब्ज़ होने से हो तो कैस्टर ऑयल और सनलाईट साबुन 60-60 ग्राम, शुष्म पानी आधा लीटर में घोल लें। इस पानी से एनीमा करें। पाखाना आकर पेट साफ हो जायेगा एवं दर्द कम हो जायेगा।

9. यदि पेट दर्द, पेट-कृमि के कारण हो तो आम के पत्तों का काढ़ा 1 से 2 ग्राम सेवन करने से कीड़े मर जाते हैं।

10. शहद में इमली के छिलकों को जलाकर पाउडर बनाकर मिला लें। इसके प्रयोग से पेट दर्द दूर हो जाता है।

11. जामुन का सिरका 10 मि.ली. प्रतिदिन भोजन के बाद सेवन करने से पेट दर्द दूर हो जाता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.