Neend Aane Ke Upay

नींद आने के उपाय

अनिद्रा, नींद न आना
(Insomnia)

Neend Aane Ke Upay, Neend Ki Dawa, Name Of Sleeping Pills

यह स्वयं कोई रोग नहीं है, बल्कि शरीर में पनप रहे या पनप चुके अन्य रोगों का एक लक्षण मात्र है। इससे पीड़ित व्यक्ति को नींद कम आती या बिल्कुल नहीं आती है। रक्तचाप का बढ़ जाना, अत्यधिक चिंतन करना, नशों का सेवन करना, पेट की वायु की अधिकता, अत्यधिक मानसिक परिश्रम आदि कारणों से अनिद्रा होती है।

आप यह हिंदी लेख Chetanonline.com पर पढ़ रहे हैं..

घरेलू चिकित्सा-

Neend Aane Ke Upay

1. निद्रोदय रस 125 मि.ग्रा. रात में सोते समय शहद के साथ दें।

2. अश्वगंधारिष्ट 4-4 चम्मच दोनों समय भोजन के बाद बराबर जल मिलाकर दें।

3. अश्वगंधा चूर्ण 1-1 चम्मच सुबह-शाम दूध के साथ दें।

4. ब्राह्मी, बच और गुठलीरहित आँवला बराबर-बराबर मात्रा में लेकर खूब महीन चूर्ण तैयार कर लें। इसमें से 1-1 चाय चम्मच प्रतिदिन सुबह-दोपहर, रात दूध या पानी के साथ लें।

5. एक पका केला लें। उसका छिलका हटाकर उस पर एक छोटा चम्मच भुने जीरा का चूर्ण छिड़क कर रात को सोते समय खायें।

यह भी पढें- मधुमेह को करें नियंत्रित

6. रात में सोने के पूर्व हल्के हाथों से सिर पर ज्वाला आयुर्वेद भवन का बना हुआ सुनींदी तेल मलें। नींद आ जायेगी।

7. असगन्ध का जड़ का चूर्ण तैयार कर लें। 1-1 चम्मच सुबह-शाम दूध के साथ दें।

8. रोगन कद्दू रात को सोते समय सिर तथा पाँवों के तलुओं पर मलें।

9. ब्राह्मी, शंखपुष्पी और आँवला बराबर-बराबर मात्रा में लेकर महीन चूर्ण तैयार कर लें। यह चूर्ण 1-1 चम्मच 2 बार जल के साथ लें।

10. खशखश, कद्दू के बीजों की गिरी तथा काहू के बीज प्रत्येक 4-4 ग्राम लेकर 120 ग्राम पानी में पीस लें तथा मिश्री का चूर्ण मिलाकर मीठा कर लें। इसमें से आधा सुबह तथा आधा शाम को लें।

11. सुबह-शाम खुली हवा में 3-4 किलोमीटर टहला करें। रात का भोजन, सोने से 3-4 घंटे पहले कर लिया करें। सोने के पूर्व चित्त लेटकर गहरी साँस लें।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.