Naak Se Blood Aana

Naak Se Blood Aana

नाक से ब्लड आना (नकसीर)

Nosebleed, Epistaxis, Nose Bleeding

यद्यपि यह रोग वयस्कों को होता है, लेकिन वयस्कों की अपेक्षा बच्चों को गर्मियों में यह रोग अधिक होता है। इस रोग का मुख्य कारण शरीर में कैल्शियम और विटामिन ‘सी’ का अभाव होना है। अतः निम्न बातों पर ध्यान दें।

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

नकसीर से बचने के उपाय-

Naak Se Blood Aana

1. रोगी को यथाशीघ्र कैल्शियम एवं विटामिन ‘सी’ युक्त आहार अधिक दें।

2. आहार में दूध, संतरे, हरी सब्जियाँ आदि की मात्रा बढ़ा दें। रोग धीरे-धीरे स्वतः चला जायेगा।

3. आँवला, टमाटर, मौसमी, सेब, रसदार फल, नाशपाती आदि भी लाभदायक है। ये विटामिन ‘सी’ के स्रोत हैं।

Naak Se Blood Aana

4. जब नकसीर चालू हो जाये तो रोगी के मुँह को ठण्डे पानी से धोयें। पीठ पर ठण्डे पानी की पट्टी रखें। पीठ पर रखने वाली पट्टी की चैड़ाई 1 से 2 इंच और मोटाई आधा इंच होनी चाहिए। पट्टी को ठण्डे पानी में भिगोकर 15 से 20 मिनट तक रखें। इससे तत्काल लाभ होगा।

यह भी पढ़ें- उच्च रक्तचाप

5. पीठ पर रीढ़ की हड्डी पर पट्टी करने के साथ-साथ सिर पर भी ठण्डे पानी या बर्फ की पट्टी रखें।

6. अनार के फूलों का रस नाक में डालने तथा पैर के तलवों पर मालिश करने से नकसीर बंद हो जाती है।

7. एक पका केला नित्य गर्म दूध के साथ 8-10 दिन तक खाने से नकसीर में लाभ होता है।

8. नकसीर आने पर नींबू के रस की 2-3 बूँदें नाक में टपकाने से नकसीर बंद हो जाती है।

9. खाली पेट नित्य नारियल खाने से नकसीर बंद हो जाती है।

10. सोंठ, छोटी पीपर और छोटी इलायची के बीज प्रत्येक 4 ग्राम, पुराना गुड़ 100 ग्राम। गुड़ के अतिरिक्त सभी कूट-छानकर गुड़ में मिलाकर 2-2 ग्राम की गोलियाँ बना लें। गोली प्रतिदिन रात को जल के साथ दें। पीनस से मुक्ति मिल जायेगी।

यह भी पढ़ें- आंखों की देखभाल कैसे करें?

11. यदि रोग की प्रारम्भिक अवस्था से ही रोगी गुड़, दही और काली मिर्च खानी प्रारम्भ कर दे तो पीनस नहीं पनपता, पीनस का भय नहीं रहता और रोगी सुखमय जीवन व्यतीत करता है।

12. काकड़ासिंगी, कायफल, पोहकर मूल, सोंठ, काली मिर्च, छोटी पीपर, जवासा और अजवायन समान मात्रा में लेकर पीस लें। 2 ग्राम लेकर अदरक का रस पीने से पीनस, तमक श्वास(श्वास रोग), खाँसी, ज्वर, स्वरभंग आदि ठीक हो जाते हैं। यह कफ, वात-कफ आदि से संबंधित तमाम रोगों में लाभकारी है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.