Muh Ke Chale Ki Dawa

Muh Ke Chale Ki Dawa

मुँह के छाले की दवा

मुँह पकना, मुखपाक, मुँह के छाले

Stomatitis, Stomatitis Treatment, Stomatitis Symptoms, Muh Ke Chale

इसे मुखशोथ, मुँह के छाले, मुँह आना आदि नामों से भी जाना जाता है। इस रोग में मुख के अंदर, जीभ और मुँह में छाले हो जाते हैं, जिनमें जलन व पीड़ा होती है। कुछ भी खाने-पीने में कष्ट होता है। तीखी व नमकीन चीजें खाने पर तो तीव्र जलन होती है। इस कारण रोगी का खाना-पीना लगभग बंद ही हो जाता है।

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

शास्त्रीय चिकित्सा-

1. त्रिफला चूर्ण(प्राणाचार्य) 1-1 चम्मच सुबह-रात्रि पानी के साथ।

2. अविपत्तिकर चूर्ण 1-1 चम्मच सुबह-रात्रि पानी के साथ दें।

3. खदिरादि बटी 1-1 टिकिया दिन में 3-4 बार चूसनार्थ दें।

4. इरिमेदादि तेल गर्म पानी 1 कप में चम्मच यह तेल डालकर दिन में 3-4 बार गरारे करने के लिए दें।

5. शतपत्रादि चूर्ण 3-6 ग्राम सुबह-शाम शीतल जल के साथ दें।

घरेलू चिकित्सा-

Muh Ke Chale Ki Dawa

1. सुहागे का फोला शहद में मिलाकर छालों पर प्रतिदिन 2-3 बार लगायें। लार बाहर निकलने दें।

2. अमरूद की कोमल पत्तियाँ चबाकर लार बाहर गिरने दें।

Muh Ke Chale Ki Dawa

3. ईसबगोल की भूसी 1-1 चम्मच सुबह-रात्रि दूध के साथ दें।

4 चमेली की पत्तियाँ चबाकर थूक बाहर निकाल दें।

5. पान के पत्ते पर सौंफ, इलायची और कत्था लगाकर खायें। चूना न लगायें, न ही पान-मसाला लगायें।

यह भी पढ़ें- मधुमेह

6. भेड़ का तुरन्त दुहा दूध छालों पर लगाने से बच्चों के मुँह के छाले ठीक हो जाते हैं।

7. कच्चा नारियल चबाकर खाने से मुख के छाले ठीक हो जाते हैं।

8. कबाब चीनी और मिश्री मुँह में रखकर उसका रस चूसें।

9. रात में सोते समय मुँह में गाय का घी लगा लिया करें।

10. बाँसा के पत्तों के बराबर रस थूक दें।

11. माजूफल, फिटकरी और कत्था चबा-चबाकर महीन कर लें। दिन में 2-3 बार छालों पर छिड़क दिया करें।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.