Chetanherbal.com

Motapa Or Vajan Kam Karne Ke Gharelu Nuskhe

मोटापा(Obesity)

जिस प्रकार आज वर्तमान में कई लोग अपने दुबलेपन को लेकर दुखी हैं, तो वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो अपने मोटापे और बढ़ते वजन को लेकर परेशान व हताश हैं। जैसे दुबलापन शरीर और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, ठीक उसी प्रकार अत्यधिक मोटापा भी सेहत के लिए सही नहीं है। बहुत अधिक मोटा व्यक्ति जहां एक ओर भद्दा और अजीबो-गरीब तो नजर आता ही है, वहीं दूसरी ओर उसका शरीर कई रोगों का घर भी बन जाता है। दुबले लोगों की अपेक्षा मोटे व्यक्तियों को बीमारीयां जल्दी घेर लेती हैं।
इसलिए अपने स्वास्थ्य और जीवनशैली में सुधार लाने की अति आवश्यकता है। इसके लिए आपको खुद ही जागरूक होना पड़ेगा और अपने खानपान पर नियंत्रण रखना होगा। अन्यथा आपका शरीर फूलकर गोदाम बन जायेगा, जिसमें केवल बीमारियां ही बसेरा करेंगी।

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

मोटापे और बढ़ते वजन की घरेलू चिकित्सा-

Chetanherbal.com

1. गर्म करके ठंडे किये हुए 50 मि.ली. जल में मधु 20 ग्राम मिलाक निरंतर पीते रहने से शरीर का बेढंगापन लिया हुआ मोटापा दूर हो जाता है।

2. मोटापे से बचने के लिए मोटापे का कारण जानना आवश्यक है। मुख्य रूप से अपनी शारीरिक आवश्यकता से अधिक कैलोरी लेने से ही शरीर मोटा होने लगता है। यदि रोजाना हम अपने भोजन में 800 से 1000 कैलोरी तक की कमी कर दें, तो एक महीने में ही 3 से 4 किलो तक वजन को कम किया जा सकता है। यह एक बहुत ही आसान विधि है। इससे न तो भूख में ही बहुत अन्तर पड़ता है और न ही कमजोरी प्रतीत होती है। सामान्य शहरी पुरूषों के लिए 1400 से 1600 और स्त्रियों के लिए 1200 से 1400 कैलोरी पर्याप्त होती है।

यह भी पढ़ें- उच्च रक्तचाप

3. मोटापा महाभयानक रोग है। जैसे- 50-60 किलोग्राम वजन उठाकर हमें कुछ दूर चलना पड़े और सांस फूलकर, पसीना बहकर हमें परेशान कर देता है, वही हाल मोटे व्यक्ति का होता है। उसे हर समय भार लेकर चलने के समान घूमना कठिन लगता है।
इसलिए खाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। स्नेह न चर्बीयुक्त पदार्थ, दूध, मलाई, चावल, अण्डा, आलू इत्यादि चीजें एकदम बंद कर देनी चाहिए।
खाना एकदम टाईट पेट भरकर न खायें, थोड़ी-सी मात्रा कम कर दें।

4. नमक व चीन का प्रयोग जहां तक हो सके, कम करें। मोटापे के कारण और भी अनेक रोग हो जाते हैं। पुनर्नवा का प्रयोग इसके लिए अति उत्तम है। पुनर्नवा सब्जी के रूप में, क्वाथ के रूप में या रस के रूप में प्रयोग किया जा सकता है।

Motapa Or Vajan Kam Karne Ke Gharelu Nuskhe

Chetanherbal.com

5. मेद(चर्बी) बढ़ी हुई हो तो उसकी निवृत्ति के लिए पहले 5-7 दिन तक पूर्ण उपवास और एनिमा का प्रयोग करना चाहिए। फिर आहार पूर्ण रूप से संतुलित कर दिया जाये और घी, मक्खन, दूध, दही आदि का प्रयोग रोक दिया जाये। यदि अण्डे और माँस का सेवन भी अधिक करते हों, तो उनका सेवन भी बंद कर दिया जाये अथवा बहुत कम कर दें।

6. जो लोग अधिक मोटे हों, उनका मोटापा दूर करने के लिए तथा उनमें ठीक रूप से शक्ति पैदा करने के लिए फल अति लाभप्रद है। खट्टे फल व उनका रस अधिक प्रयोग करना चाहिए। प्रतिदिन नींबू का रस या नारंगी के रस के 2-3 गिलास पीने से मोटापा दूर होकर शरीर के भार में कमी और शक्ति पैदा होती है।

7. गर्म जल में शहद और नींबू का रस मिलाकर प्रातः विशेष रूप से पियें। मोटापा दूर होगा।

8. सुबह जल में शहद मिलाकर पियें। जौ की रोटी खायें। पिप्पली चूर्ण शहद में मिलाकर चाटें।

9. पानी कम पियें। उपवास रखें। एक लीटर मलाई निकाला दूध बार-बार पियें। पालक का साग, बन्दगोभी और टमाटर का रस भी प्रयोग कर सकते हैं।

10. उपवास करते रहने से आमाशय सिकुड़ जाता है और मनुष्य कम खाने लग जाता है। उपवास के दिन काॅफी या चाय भी पी सकते हैं।

यह भी पढ़ें- मधुमेह को कैसे करें कंट्रोल

11. मसूर की दाल के आटे की रोटी पका कर सिरका के साथ खायें। नींबू का रस काफी गर्म पानी में मिलाकर कई बार पियें।

12. प्रतिदिन सुबह के समय खाली पेट 250 मि.लि. पानी में 20 ग्राम शहद मिलाकर पीयें। ऐसा 3 माह तक निरंतर करते रहने से मोटापा देखते ही देखते छू मंतर हो जाता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.