Motapa Kam Karne Ke Liye Khana kaise Khaye

Motapa Kam Karne Ke Liye Khana kaise Khaye

मोटापा कम करने के लिए खाना कैसे खायें
मोटापा(Obesity)-

मोटापा व्यक्ति की खूबसूरती व पर्सनेलिटी का सबसे बड़ा दुश्मन होता है। कहने का अभिप्राय यह है कि जो लोग अच्छी पर्सनेलिटी और सुंदर व्यक्तित्व के स्वामी बनना चाहते हैं, उन्हें मोटापे से बचना चाहिए। क्योंकि ऐसे व्यक्ति चाहे जितने की मंहगे, स्टाइलिश और सुंदर वस्त्र क्यों न पहन लें, तब भी वह लोगों के बीच केवल हंसी का मात्र ही बनकर रह जाते हैं। उन पर कपड़े खास जंचते ही नहीं है।
यदि किसी व्यक्ति का वजन बढ़ता ही चला जा रहा है, तो उसके लिए अपने भोजन में परिवर्तन लाना अनिवार्य है। रात को सोते समय कम भोजन करना चाहिए। विशेषकर ठोस भोजन कम ही सेवन करना चाहिए। वजन को नियंत्रण में रखने के लिए फलों का रस, सब्जियों का पकाया हुआ सूप, दूध व अन्य तरल पेय पदार्थ सहायक सिद्ध होते हैं।

दिन में 2-3 बार समय पर भूख से कम खाना खायें। सोने से 2-3 घण्टे पहले रात्रि को भोजन कर लें। हो सके तो खाना खाने के पश्चात् मछली और आलू खाने की अपेक्षा सब्जियाँ उबाल कर खायें। भोजन को अच्छे से चबा-चबा कर ही खायें।

आप यह आर्टिकल chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

मोटापा कम करने के लिए भोजन के नियम-

Motapa Kam Karne Ke Liye Khana kaise Khaye

1. शारीरिक श्रम या अपने निर्धारित योगाभ्यास के पूर्व न कुछ खाइये और न कुछ पीजिए। सिर्फ पानी पी सकते हैं।

2. बिना भूख अथवा कम भूख में भी न कुछ खायें और न कुछ पीयें। जब खूब खुलकर भूख लगे तब अपना निर्धारित भोजन लें।

3. भूख से हमेशा थोड़ा कम ही खाइये। भोजन को खूब चबा-चबा कर खाइये। भोजन में सब्जी व सलाद अधिक खायें।

4. भोजन के साथ पानी कम से कम पीजिए। अच्छा है कि पानी न ही पीयें। दिनभर में पानी खूब पीयें। सर्दियों में कम से कम 3 लीटर एवं गर्मियों में कम से कम 5 लीटर पानी अवश्य पीयें।

5. प्रचिलत चाय के स्थान पर देसी चाय या सब्जियों का रस पीयें अथवा 250 ग्राम गुनगुने जल में आधा नींबू का रस व 2 चम्मच शहद डालकर पीयें।

यह भी पढें- कब्ज़ का देसी घरेलू इलाज

6. शीघ्र स्वस्थ होने के लिए चीनी, चाट, लाल मिर्च, गर्म मसाले, खटाई, आलू, चावल व तली हुई चीजों का प्रयोग न करें। मसालों में सूखा धनिया, जीरा, हल्दी, अदरक और हरी मिर्च डाल सकते हैं।

7. भोजन के पश्चात् मूत्र त्याग अवश्य करें। उसके तुरन्त बाद कम से कम 5 मिनट तक वज्रासन पर बैठिये। यदि गैस की शिकायत रहती हो तो दोपहर, रात्रि व शाम को 1-1 छोटी कच्ची हरड़ मुंह में डालकर चूसें।

Motapa Kam Karne Ke Liye Khana kaise Khaye

8. अण्डा, माँस, मछली, शराब, बीड़ी, पान, सिगरेट, तम्बाकू, पान-मसाला इत्यादि अति अम्लीय एवं हानिप्रद व्यसन हैं। इनका बहिष्कार करें।

9. सप्ताह में एक दिन फलाहार अथवा जलाहार पर अवश्य रहिए। इससे पाचन संस्थान को विश्राम मिलेगा। उपवास के दिन खूब पानी पीयें। कमजोरी व चक्कर का अनुभव करें तो दिन में 4 बार नींबू व शहद का शर्बत, मौसमी या सन्तरें का रस पीयें।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.