Hichki Ko Rokne Ke Aasan Gharelu Nuskhe

Hichki Ko Rokne Ke Aasan Gharelu Nuskhe

हिचकी को रोकने के आसान घरेलू नुस्खे

हिक्का, हिचकी(Hiccups)-

जब बार-बार प्राण, वायु और उदान वायु कुपित होकर ऊपर की ओर जाती है, तो हिक-हिक शब्द के साथ वायु निकलती है। इसको ही हिचकी कहते हैं।
कई चिकित्सकों के अनुसार वक्ष और उदर के बीच जो वक्षोदर मध्यस्थ पेशी होती है, उसमें एक प्रकार की ऐंठन उत्पन्न होने से यह रोग हो जाता है। चाहे यह रोग जिस कारण भी हो यह एक कष्टदायी रोग है। इस रोग से प्राण सदा संकट में बने रहते हैं।

मुख्य कारण- आहार में संयम न रखना, संयोग विरूद्ध आहार-पेय लेना, जल्दी-जल्दी खाना, अनियंत्रित(अधिक मात्रा में) भोजन करना आदि मुख्य कारण हैं। इन कारणों से वायु कुपित होकर ऊपर की ओर निकलती है।
कभी-कभी तो यह 2-4 बार आने के बाद स्वतः ठीक हो जाती है, लेकिन कभी-कभी रोगी परेशान हो जाता है और रोग ठीक होने का नाम ही नहीं लेता है।
आप यह आर्टिकल पर पढ़ रहे हैं..

हिचकी को रोकने के लिए देसी नुस्खे-

Hichki Ko Rokne Ke Aasan Gharelu Nuskhe

1. बकरी के दूध 250 मि.ली. में सोंठ 20 ग्राम और पानी 1 लीटर मिलाकर उबालें। जब केवल दूध शेष रह जाये तो दूध पी लें, लाभ होगा।

2. राई एकदम बारीक पीसकर पानी में घोल लें। कुछ देर के लिए रख दें। जब राई नीचे बैठ जाये तो उसे निथार कर बार-बार पीने से हिचकी आनी बंद हो जाती है।

3. घी में जवाखार और शहद मिलाकर पीने से हिचकी में लाभ होता है।

4. केले की जड़ के रस में चीनी मिलाकर प्रतिदिन 3-4 बार पीने से हिचकी ठीक हो जाती है।

5. बकरी के आधा लीटर दूध में सोंठ का चूर्ण 6 ग्राम मिलाकर उबालें। जब दूध 250 मि.ली. शेष रह जाये तो उतार कर प्रतिदिन दो बार पिला दें। हिचकी बंद हो जायेगी।

यह भी पढ़ें- कब्ज़

6. गरमागरम गाय का दूध बार-बार हिचकी से परेशानी व्यक्ति को पिलायें,
हिचकी शांत हो जायेगी।

7. पीपर, आमले और सोंठ बराबर-बराबर लेकर पीस लें। 3-5 ग्राम समभाग शहद में मिलाकर बार-बार चूसने से हिचकी ठीक हो जाती है।

8. यदि बच्चों को बार-बार हिचकी आये तो मां के कपड़े का एक टुकड़ा फाड़कर पानी में भिगोकर बच्चे पर रखने से हिचकी आनी बंद हो जाती है।

9. जमालगोटा, चने की भूसी या अरहर की भूसी चिलम में रखकर पीने से हिचकी ठीक हो जाती है।

10. काली मिर्च का धुआँ नाक के ऊपर की ओर खींचने से हिचकी मंे बहुत आराम पहुंचता है।

11. अनार की कली, तुलसी के पत्ते और हरी दूब बराबर-बराबर पीसकर इसके रस की 3-4 बूंद नाक में टपकाने से हिचकी में लाभ होता है।

Hichki Ko Rokne Ke Aasan Gharelu Nuskhe

12. नारियल की दाढ़ी की राख पानी में घोलकर जब राख नीचे बैठ जाये तो पानी निथारकर बार-बार पीने से हिचकी में लाभ होता है।

13. चन्द्रसूर(चनसूर) रस- चनसूर को आठ गुने पानी में डालकर उबालें। जब उबलते-उबलते गाढ़ा और नरम हो जाये, तब कपड़े से छान लें। यह पानी 50-50 मि.ली. प्रतिदिन 3-4 बार पीने से हिचकी शांत हो जाती है।

14. अरीठे की माला पिरोकर बच्चे के गले में पहना देने स हिचकी में आराम आ जाता है।

यह भी पढ़ें- शराब छुड़ायें

15. गर्म घी या गर्म जल में सेंधानोन घुलाकर नाक में टपकाने या सूँघने से हिचकी ठीक हो जाती है।

16. बच्चों की हिचकी में नारियल की गिरी 250 मि.ग्रा. और मिश्री 250 मि.ग्रा. मिलाकर खाने से हिचकी ठीक हो जाती है।

17. कलौंजी(मडरैला) 3 ग्राम में मक्खन 4 ग्राम मिलाकर खाने से वयस्कों की हिचकी में लाभ होता है।

18. गाय का लूनी घी 25 ग्राम में मिश्री 10 ग्राम मिलाकर खाने से हिचकी में आराम आ जाता है।

19. पिप्पल्यादि लौह या हिंस्रद्यघृत का सेवन हिचकी में बहुत ही लाभदायक है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.