Dast Rokne Ki Dawa

Dast Rokne Ki Dawa

दस्त रोकने की दवा

अतिसार, पतले दस्त
(Diarrhea)

dast ki dawa, dast rokne ki dawa, dast rokne ki medicine

आमाशय में अनुकूल आहार के बदले अन्य आहार के खाने से पाचन संस्थान उसे पचा नहीं पाता और अधपचे या बिना पचे शरीर से बाहर निकल जाता है। इस स्थिति में बार-बार दस्त आते हैं। यदि शीघ्र नियंत्रित नहीं किया जाये तो शरीर दुर्बल हो जाता है।

आप यह हिंदी लेख chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

दस्त बंद करने के लिए देसी उपाय-

1. कुटज(कोरैया) और अनार वृक्ष की छाल का काढ़ा, शहद के साथ लेने से लाभ होता है।

2. आम की भीतरी छाल, पीस छानकर पानी में घोलकर चीनी या मिश्री मिलाकर पीने से दस्त रूक जाते हैं।

3. बच्चों के अतिसार में- सूखे आँवालों, चित्रक, छोटी हरड़ व पीपल का चूर्ण सुबह-शाम गर्म पानी के साथ बच्चों को देने से अतिसारों में लाभ होता है।

Dast Rokne Ki Dawa

4. इमली के बीजों का चूर्ण 10 ग्राम, पिसा जीरा 15 ग्राम और मिश्री 15 ग्राम। तीनों को कूट-पीसकर दस पुड़ियाँ बना लें। 1-1 पुड़िया 3-3 घण्टे के अंतर से छांछ के साथ सेवन करने से आमातिसार(आँव के साथ अतिसार) में लाभप्रद है।

5. दो केले आधा पाव दही के साथ प्रतिदिन दो बार खाने से दस्त ठीक हो जाते हैं।

6. जामुन की छाल का ताजा रस बकरी के दूध के साथ सेवन करने से अतिसार में लाभ होता है। पतले दस्त जल्दी ठीक हो जाते हैं।

7. जामुन का गूदा पानी में घोलकर, शर्बत बनाकर पीने से उल्टी-दस्त, मिचली आदि ठीक हो जाते हैं।

8. नारियल(गिरी गोला) के पानी 1 कप में थोड़ा-सा पिसा जीरा मिलाकर पीने से गर्मी में होने वाले दस्त बंद हो जाते हैं।

9. नींबू के रस में अफीम घिसकर चाटने से अतिसारों में लाभ होता है।

यह भी पढ़ें- मधुमेह

10. बेलगिरी का चूर्ण 5 ग्राम एवं अफीम एक चैथाई ग्रेन(लगभग 16 मि.ग्रा.) मिलाकर दिन में 4 मात्रायें देने से लाभ हो जाता है।

11. बच्चों के अतिसारों में बेल का सूखा टुकड़ा साफ पत्थर पर सौंफ के अर्क में घिसकर आधा चम्मच शक्कर या शहद मिलाकर प्रतिदिन 2-3 बार चाटने से बच्चों के अतिसार ठीक हो जाते हैं।

12. संतरे के छिलके सुखाकर महीन पीस लें। इस चूर्ण को चाटकर ऊपर से संतरे का रस पीने से गर्भवती के अतिसार और वमन ठीक हो जाते हैं।

13. बच्चों के दस्त में माँ के दूध के साथ थोड़ा-सा संतरे का रस मिलाकर पीने से छोटे बच्चों के दस्त बंद हो जाते हैं।

14. दस्त एवं आँव होने पर सिंघाड़ों का शर्बत बनाकर पीने से लाभ होता है।

15. कच्चा सेब खूब चबाकर खाने से तथा सेब का रस पीने से पाचन शक्ति ठीक होकर दस्तों को रोकता है और बंधा मल आता है।

16. सीताफल(काशीफल, कदीमा) का रस या कच्चे फल का सेवन करने से अतिसार और पेचिश ठीक हो जाती है।

17. अदरक का रस नाभि पर लगाने से दस्त बंद हो जाते हैं।

18. आधा कप उबलते पानी में 1 चम्मच अदरक का रस मिलाकर 1-1 घण्टा बाद पीने से पतले दस्त रूक जाते हैं।

19. यदि अतिसार पित्त के कारण हो तो कमरख का रस या शर्बत पिलायें।

20. प्याज़ के रस में अफीम का योग देेकर पीने से मरोड़ एवं दस्त बंद हो जाते हैं।

21. करेले एवं प्याज़ का समभाग रस मिलाकर पीने से दस्त बंद हो जाते है।

यह भी पढ़ें- पेट की गैस

Dast Rokne Ki Dawa

22. तुलसी के पंचाँग(जड़, धड़, पुष्प, पत्ते एवं बीज) का क्वाथ बनाकर पीने से दस्त बंद हो जाते हैं।

23. एक बताशे पर 1 से 5 बूँद बरगद का दूध डालकर लेने से दस्त आना रूक जाते हैं। छोटे बच्चों को भी लाभ होता है। मात्रा 1 से 2 बूँद दें। लगातार 3-4 दिन तक देने से पतले पीले दस्त आना भी ठीक हो जाते हैं।

24. बरगद के दूध को नाभि पर मलकर थोड़ी देर लेटने से अतिसारों में बहुत लाभ पहुंचता है।

25. नीम के पत्तों को पीस, छानकर शक्कर मिलाकर पीने से दस्त आना बंद हो जाते हैं।

26. धनिया के रस को छांछ या लस्सी में मिलाकर दस्त से पीड़ित रोगी को देने में बहुत उसे बहुत आराम पहुंचता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.