Cholesterol Kaise Kam Karen

Cholesterol Kaise Kam Karen

कोलेस्ट्रोल कैसे कम करें

Cholesterol Foods, Cholesterol Symptoms, Cholesterol Causes

कोलेस्ट्राॅल (Cholesterol) बढ़ने की समस्या हृदय रोग सहित कई गंभीर बीमारियों को जन्म देती है, पर खानपान की स्वस्थ आदतें अपना कर इसे आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है। कोलेस्ट्राॅल बढ़ने की समस्या के बारे में बात करने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर यह है क्या?

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

आइए हम सबसे पहले कोलेस्ट्राॅल के बारे में जानते हैं..
कोलेस्ट्राॅल, लिवर (यकृत) द्वारा बनाया जाने वाला वसा होता है। कोलेस्ट्राॅल का बनना स्वाभाविक होता है, क्योंकि इसके बनने से शरीर सुचारू रूप से कार्य करता है, किन्तु इसकी मात्रा कम या ज्यादा होने पर नुकसानदायक होता है। जब यह कोलेस्ट्राॅल रक्त कोशिकाओं में जमा होने लगता है, तब रक्त संचरण बाधित होता है। यह रक्त वाहिनियों में जमा होते जाता है, जिससे रक्तवाहिनियां संकुचित हो जाती हैं। ऐसी स्थिति में शरीर के सभी भागों तक रक्त पहुंचाने के लिए हृदय को अधिक ताकत लगानी पड़ती है।

कोलेस्ट्राॅल के प्रकार
यह दो प्रकार का होता है-

Cholesterol Kaise Kam Karen

(1.) एलडीएल (लो डेन्सिटी लाइपोप्रोटीन)- इसे बेड कोलेस्ट्राॅल (बुरा) कहते हैं।

(2.) एचडीएल(हाई डेन्सिटी लाइपोप्रोटीन)- इसे गुड कोलेस्ट्राॅल (अच्छा) कहते है।

मुख्यतः कोलेस्ट्राॅल शरीर में हार्मोन्स संतुलन बनाये रखने में मदद करता है।

रक्त में स्थित टाॅक्सिक पदार्थों का शोषण करने में सहायक है।

धूप से विटामिन डी के निर्माण में भी कोलेस्ट्राॅल की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

मस्तिष्क के सामान्य कार्य करने में भी कोलेस्ट्राॅल अत्यंत जरूरी है।

यह भी पढ़ें- उच्च रक्तचाप

शरीर में काॅलेस्ट्रोल की सामान्य मात्रा-

किसी स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में कुल कोलेस्ट्राॅल की मात्रा 3.6 से 7.8 मिलीमोल्स प्रति लिटर होना चाहिए।
सुविधाजनक और रफ्तार से युक्त जीवन में ज्यादातर लोग पैक्ड खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करते हैं, जिससे कोलेस्ट्राॅल की मात्रा बढ़ती है। इसके अलावा मोटापा और तनाव भी इसे बढ़ाते हैं।

कोलेस्ट्राॅल कम करने वाले उपाय-

कोलेस्ट्राॅल नियंत्रित करने हेतु सही भोजन चुनने के साथ कुछ आहार से बचना भी आवश्यक है। सर्वप्रथम हम कोलेस्ट्राॅल बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ के बारे में जानते हैं..
सैचुरेटेड फैट्स से कोलेस्ट्राॅल बढ़ता है। मक्खन, चरबी, फैटी मांस, वनस्पति तेल, चाॅकलेट, केक, पेस्ट्री, फैटयुक्त बिस्किट इत्यादि खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए या आवश्यक होने पर बहुत ही कम मात्रा में सेवन करें।

कोलेस्ट्राॅल कम करने वाले पदार्थ-

Cholesterol Kaise Kam Karen

यह ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं, जो शरीर से अनावश्यक कोलेस्ट्राॅल को बाहर निकालते हैं तथा रक्त में वसा के प्रवाह को रोकने में सहायक होते हैं।
1. लहसुन :
लहसुन रक्त में लिपिड की मात्रा कम करता है। रक्त का थक्का नहीं बनने देता। इसीलिए दिन की शुरूआत कच्चे लहसुन की एक यो दो फली से करें। (अधिकतम लाभ के लिए इन्हें चबाकर खाएं) क्योंकि ये सल्फाइड यौगिकों से भरे होते हैं, जो कोलेस्ट्राॅल को कम करते हैं और साथ ही रक्त वाहिकाओं को चैड़ा करने में मदद करते हैं, जिससे धमनियां साफ होती हैं।

यह भी पढ़ें- मधुमेह

2. जई (ओट्स) :
ओट्स को हम सिर्फ स्वादहीन दलिया के रूप में ही देखते हैं, जबकि इसके फायदे अनेक हैं। घुलनशील फाइवर होने से रक्त को जमने नहीं देती। शरीर में खराब कोलेस्ट्राॅल का स्तर नियंत्रित रखने के लिए आहार में जई अवश्य शामिल करें। जई में घुलनशील फाइबर, प्रोटीन और शुगर होता है। जई का इस्तेमाल ब्रेड, बेकिंग और नाश्ते के अनाज (सेरेल्स) के रूप में किया जाता है। इसमें अधिक फाइबर होने की वजह से कोलेस्ट्राॅल नियंत्रण में रहता है और हृदय की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।

3. दालें :
दालें शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं। खराब कोलेस्ट्राॅल को कम करने वाला सबसे अच्छा फाइबर दालों में पाया जाता है। दालों में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, फास्फोरस और खनिज तत्व पाये जाते हैं, जो हृदय को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते हैं। अरहर, उड़द, मूंग आदि दालें एलडीएल कोलेस्ट्राॅल कम करने में सहायक हैं।

Cholesterol Kaise Kam Karen

4. नाशपाती :
नाशपाती में हमारे शरीर के लिए जरूरी सभी प्राकृतिक विटामिनों, खनिज, एंजाइम और पानी में घुलनशील फाइबर समृद्ध मात्रा में पाये जाते हैं। नाशपाती और एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो एलडीएल को कम करता है। नाशापाती में मौजूद पैक्टिन नामक घुलनशील फाइबर रक्त कोलेस्ट्राॅल और सेल्यूलोज के स्तर को नियंत्रित करता है।

5. टमाटर :
टमाटर में पाया जाने वाला लाइकोपिन एलडीएल कोलेस्ट्राॅल कम करने में मददगार है। अगर टमाटर को जैतून के तेल के साथ या प्योरी के तौर पर खाया जाये तो यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक माना जाता है।

6. सोया दूध :
सोया दूध के सेवन से भी कोलेस्ट्राॅल का स्तर कम होने में सहायता होती है।

7. धनिया के बीज :
एक गिलास पानी में दो चम्मच धनिये के बीज उबाल कर ठंडा करके सेवन करें।

8. मेथी बीज :
इनमें फाइबर की अधिक मात्रा होती है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.