Bhukh Badhane Ki Dawa

Bhukh Badhane Ki Dawa

भूख बढ़ाने की दवा

अरूचि(Anorexia)-

Bhukh Badhane Ki Dawa, Appetite Loss, Bhukh Na Lagna

इस रोग में कुछ भी खाने-पीने की इच्छा नहीं होती है। यदि रोगी जबर्दस्ती भोजन करने बैठ भी जाये तो 2-4 कौर खाकर ही उठ जाता है। बिना कुछ खाये भी उसका पेट भारी मालूम होता है। बार-बार खट्टी डकारें आती हैं और तन-मन सुस्त रहता है। हल्का भोजन करने के बाद भी पेट भारी हो जाता है और साधारण परिश्रम से भी बहुत अधिक थकावट होने लगती है। कब्ज़ रहती है, भूख नहीं लगती और रोगी का बल और वज़न घटने लग जाता है।

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

घरेलू चिकित्सा-

Bhukh Badhane Ki Dawa

1. नींबू को बीचों बीच काटकर उसके ऊपर काली मिर्च तथा नमक छिड़क कर आग पर सेंक दें। ऐसा 1-1 टुकड़ा दिन में 2-3 बार भोजन से पहले चूसानार्थ दें।

2. अदरक का रस 1 चम्मच, नींबू का रस 2 चम्मच तथा काला नमक 1 ग्राम मिला लें। 1-1 छोटा चम्मच प्रतिदिन 2-3 बार भोजन से पूर्व चूसानार्थ दें।

3. अजवायन को नींबू के रस में 12 घंटे तक भिगोकर रख देें। फिर अजवायन सुखा लें। इस चूर्ण में आधा भाग काला नमक मिला लें। ) से 1 ग्राम तक प्रतिदिन 2-3 बार दें।

यह भी पढ़ें- उच्च रक्तचाप

Bhukh Badhane Ki Dawa

4. अदरक के पतले-पतले टुकड़े कर लें। फिर उस पर नमक छिड़क कर थोड़ा नींबू का रस निचोड़ दें। इसे प्रतिदिन 2 बार भोजन से पहले दें।

5.पके अनार का रस 6 मि.ली., शहद 6 ग्राम और काला नमक 1 ग्राम मिलाकर सुबह-शाम दें। भूख जल्दी लगने लगेगी। सफल योग है।

6. पकी इमली 30 ग्राम को पानी 100 मि.ली. में मसलकर छानकर काला नमक 2 ग्राम, पोदीना 4 ग्राम और काली मिर्च का चूर्ण 1.5 ग्राम मिलाकर पीने से तत्काल कुछ ही देर में भूख लगने लगती है।

7. मनिहारी नमक का चूर्ण, शहद और अनार को मिलाकर खाने से असाध्य अरूचि भी ठीक हो जाती है।

8. मिश्री 120 ग्राम, खट्टा अनारदाना 80 ग्राम, दालचीनी 40 ग्राम, छोटी इलायची 40 ग्राम, तेजपत्ता 40 ग्राम मिश्रित चूर्ण बना लें। 5-5 ग्राम जल के साथ लेने से अरूचि में लाभपूर्ण फल प्राप्त होता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.