Bhram Rog Ka Ilaj

Bhram Rog Ka Ilaj

भ्रम रोग का इलाज

भ्रम(Delusion)
परिचय-

Bhram Rog Ka Ilaj, Mansik Bhram, Dimagi Waham

वास्तव में जो हो ही ना अथवा हुआ न हो, लेकिन व्यक्ति को लगे कि वह सब हुआ और उसने देखा व सुना भी है, तो यह भ्रम रोग की स्थिति होती है। जैसे ज्वर में रोगी प्रलापावस्था में भूत-प्रेत, सांप, भयानक जानवर आदि की बात करता है, मगर होता सब भ्रम है। ठीक इसी प्रकार जब रोगी ज्वर या बिना ज्वर में ऐसी बातें करे तो यह एक प्रकार का ‘भ्रम-रोग’ होता है। वस्तुतः यह मानसिक विकृतावस्था का ही कारण है। इस स्थिति में इन योगों का ही प्रयोग करें।

Bhram Rog Ka Ilaj

आप यह हिंदी लेख chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

1. लाल रंग का जवासा 25 ग्राम को पानी 250 मि.ली. में उबालें। जब पानी चैथाई भाग रह जाये तो मल-छनकर गाय का घी 30 ग्राम मिलाकर प्रतिदिन 1-2 मात्रायें (आवश्यकतानुसार) रोगी को पिलाने से आशातीत लाभ होता है। इसका नाम दुर्लभ क्वाथ है। 3-4 दिन में लाभ प्रतीत होता है।

2. बरियार के बीजों का चूर्ण 6 ग्राम और मिश्री 10 ग्राम मिलाकर प्रतिदिन एक मात्रा लेने से भ्रम रोग ठीक हो जाता है।

3. आमलों के रस में ‘कल्याण घृत’ मिलाकर पकायें। फिर ठण्डा करके प्रतिदिन दो बार भ्रम के रोगी को पिलायें। भ्रम दूर होगा।

Bhram Rog Ka Ilaj

4. हरड़ के क्वाथ में घी मिलाकर पकायें। पीने योग्य होने पर ठण्डा करके पिलायें। इसके नियमित सेवन से भ्रम शीघ्र ठीक हो जाता है और मानसिक शांति भी मिलती है।

यह भी पढ़ें- हाई ब्लडप्रेशर

5. हरड़, शतावर, पीपर और सोंठ प्रत्येक 50 ग्राम लेकर चूर्ण बनाकर गुड़ 300 ग्राम में मिलाकर बेर के बराबर गोलियां बना लें। 1-1 गोली सुबह-शाम गाय के दूध के साथ या ताजा जल के साथ दें। भ्रम दूर होगा।
नोट- ये पाँचों योग भ्रम में उपयोगी होने के साथ-साथ घुमेर(चक्कर आना) में भी उपयोगी हैं।

6. धनियां 6 ग्राम और आमले 6 ग्राम यवकूट करके(दरदरा कूटकर) रात को पानी में भिगो दें। सुबह मल-छानकर मिश्री 25 ग्राम मिलाकर नियमित रोगी को पिलायें। इससे पित्त विकार से उत्पन्न चक्कर आना में लाभ होता है।

7. पटसन के बीज पीसकर और गेहूं के आटे में मिलाकर रोटी बनाकर खाने से चक्कर आना में लाभ होता है।

8. सरफोका, पिसा हुआ धनिया और हरड़ की जड़ मिलाकर 70 ग्राम का काढ़ा बनाकर 7 दिन तक पीने से चक्कर आना ठीक हो जाता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.