Chetanherbal.com

Balo Ka Girna Rokne Ke Desi Ayurvedic Upay

गंजापन, सिर के बाल गिरना, टूटना झड़ना
(Hair Fall, Alopecia)

परिचय-

इसे खल्वाट, टाँक पड़ना आदि नामों से भी जाना जाता है। इसमें सिर के बाल गिर जाते हैं। कभी-कभी तो इस प्रकार बाल विहीन हो जाते हैं कि देखने पर प्रतीत होता है कि सिर पर कभी बाल थे ही नहीं। कुछ रोगियों में तो भौ के बाल, पलकों की बरौनियाँ आदि भी झड़ जाती है और चेहरा देखने में भद्दा लगता है।

आप यह हिंदी लेख Chetanherbal.com पर पढ़ रहे हैं..

चिकित्सा-

Chetanherbal.com

1. अनार के पत्तों को पानी में पीसकर दिन में 2 बार मलने से गंजापन दूर हो जाता है।

2. अफीम के बीजों को दूध में पीसकर सिर पर लेप करने से लाभ होता है।

3. काली अरबी के कन्द का रस निकाल कर सिर पर मालिश करने से बालों का गिरना बंद हो जाता है और नये बाल उगने लगते हैं।

4. इक्लीलुल मलिक(हिंदी नाम ‘नाखूना’) को सिरके में पीसकर गंज पर लेप करने से लाभ होता है।

5. धोये हुए घी के साथ कपीले को लगाने से सिर की गंज में लाभ होता है।

6. करंज के तेल को सिर पर मलने से गंज में लाभ होता है।

7. करील की जड़ को पीसकर बालों के जड़ों में मलने से बाल उगने लगते हैं।

यह भी पढ़ें- मधुमेह

8. करोमाना(करवामून) को सिरके में पीसकर सिर पर लेप करने से सिर की खुजली, गंज, दाद, फोड़े, फुन्सियों और चेहरे के दाग तथा झाईयों में लाभ होता है।

9. कलौंजी को जलाकर तेल में मिलाकर गंज पर मालिश करने से कुछ समय में नये बाल पैदा होने लगते हैं।

10. कुसुम(कोसम) के बीजों का तेल लगाने से बाल उगने लगते हैं।

11. गोलोचन(गाय के मस्तक का पित्त) शराब में पीसकर सिर पर लगाने से नये बाल उग आते हैं।

12. चन्दरस के बीजों के तेल में सफेदा मिलाकर सिर की गंज पर लगाने से लाभ होता है।

13. चुकन्दर के पत्तों के रस को गंजे सिर पर प्रतिदिन मलने से बाल फिर से जम जाते हैं।

14. जल कुम्भी का नियमित सेवन करने से नये बाल उग आते हैं।

15. हुक्के के गुल को कड़वे तेल में पीसकर सिर पर लेप करने से गंज में लाभ पहुंचता है।

16. धनिये के चूर्ण को सिरके के साथ पीसकर सिर पर लेप करने से गंज में फायदा प्राप्त होता है।

17. नीम-बकायन के बीजों को कड़वे तेल में पीसकर गंज पर लगाने से लाभ होता है। नीम बकायन को महानिम्ब भी कहते हैं।

यह भी पढ़ें- हाई ब्लडपे्रशर

18. गंजेपन में नींबू को काट कर सिर पर रगड़ने से लाभ होता है।

19. बाँस की जड़ और छाल को जलाकर सिरके में मिलाकर गंज पर लगाने से बाल फिर उगने लगते हैं।

Balo Ka Girna Rokne Ke Desi Ayurvedic Upay

20. बाँस की जड़ जलाई हुई और छाल समान भाग में हल्दी पीसकर सिर पर लगाने से बालों की जड़ें मजबूत हो जाती हैं और झड़े हुए बालों के स्थान पर फिर से नये बाल उग जाते हैं।

21. बाँस की जड़ को जलाकर चमेली के तेल में मिलाकर सिर पर लगाने से सिर का गंज और दाद ठीक हो जाता है।

22. जहाँ के बाल गिर गये हों, वहां पर बांकले के छिलकों को लगाने से बाल फिर से आने लगते हैं।

23. यदि किसी के बाल बहुत गिरते हों, तो बारतंग(बाल-तंत्र) के पत्तों का लेप करने से लाभ होता है।

24. आधी कच्ची और आधी सेंकी हुई राई को पीसकर कड़वे तेल में मिलाकर लगाने से गंज में लाभ पहुंचता है।

25. रोशा घास के तिल की मालिश करने से गंज में लाभ होता है।

About the author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.