Bawaseer Ke Liye Desi Ayurvedic Upchar

बवासीर के लिए देसी आयुर्वेदिक उपचार बवासीर, अर्श Hemorrhoids, Piles परिचय- यह गुदामार्ग का रोग है। इसमें मलद्वार पर अंगूर के दानों की भांति एक संरचना हो जाती है। इसकी संख्या एक से अधिक भी संभव है। यह रक्तस्रावी और बादी दो प्रकार की होती है। बादी में रक्त का स्राव नहीं होता है। बवासीर […]

Rheumatism Ka Gharelu Ayurvedic Upchar

Home Remedies Treatment For Rheumatism Hindi आमवात(Rheumatism)- परिचय- आहार में हम जो कुछ खाते हैं, वे आमाशय में पहुंच कर जठराग्नि द्वारा अच्छी प्रकार पचकर ऐसा रस तैयार होता है कि वह सरलता से रक्त में मिलकर शरीर के 1-1 अंग और 1-1 कोशिका तक पहुंचता है। इसी से हमें शक्ति मिलती है और शरीर […]

Sangrahani Rog Ke Liye Desi Gharelu Upay

संग्रहणी, ग्रहणी, आँतों की पुरानी सूजन, श्वेतातिसार- (Sprue, celiac) परिचय- संग्रहणी का मुख्य लक्षण है आहार के अनुपात में मल का अधिक आना। इस रोग की पुरानी अवस्था में जीभ, तालू, होंठ(ओंठ) और गाल की श्लैष्मिक कला लाल हो जाती है। मुँह के अंदर घावों के साथ-साथ अधिक दिनों तक झागदार मल आना एक निर्णायक […]

How To Work Pancreas In Human Body In Hindi

पैनक्रियाज इंसान के शरीर में कैसे कार्य करता है? पैनक्रियाज(क्लोम ग्रन्थि) के कार्य- (Work of Pancreas) शरीर में एक ग्रन्थि होती है, जिसको क्लोम ग्रन्थि(पैनक्रियाज या अग्नाशय) कहते हैं। यह नाभि के 8 से.मी. ऊपर आमाशय के पीछे कमर के पहले दूसरे कशेरूका(Vertebra) के सामने होती है। इसकी लम्बाई 15 से.मी., चैड़ाई 2.5 से.मी. और […]

Pet Ke Kide Marne Ke Liye Ayurvedic Upchar

पेट के कीड़े मारने के लिए आयुर्वेदिक उपचार कृमि, आँत्रकृमि, पेट में कीड़े होना (Helminthiasis) परिचय- आँत्रों में कई प्रकार के कीड़े होते हैं। इनमें केंचुए, गोलकृमि, फीते जैसे कृमि, सूत्रकृमि मुख्य हैं। इनके होने से अरूचि, कभी कब्ज़, कभी पतले दस्त, सिरदर्द, गुदा मार्ग की खुजलि, बार-बार मुँह में पानी भर जाना, मिचली(वमन) आदि […]